कोरोना काल का ये है हिसाब-किताब

नई दिल्ली. ये साल करोड़ों लोगों के लिए बेहद मुश्किलों भरा रहा है। जब करोड़ों लोगों ने अपनी नौकरी गंवा दी और कारोबार चौपट हो गए तब दुनिया के अमीरों की दौलत में बेहिसाब बढ़ोतरी हुई है। कोरोना काल में दुनिया के 60 प्रतिशत से ज़्यादा अरबपति और अमीर हो गए। कई ने इस साल इतनी कमाई की कि उनकी तिजोरियों में दौलत रखने की जगह तक नहीं बची है। ऐसे अमीरों में स्पेस एक्स के संस्थापक और टेस्ला के सीईओ एलन मस्क पहले पायदान पर रहे हैं जिनकी संपत्ति में साल 2020 में 140 अरब डॉलर और जुड़ गए हैं। उनकी कुल संपत्ति 1 खरब 67 अरब डॉलर हो गई है।

इसके अलावा अमेजन के जेफ़ बेज़ोस ंने अपनी संपत्ति में 72 अरब डॉलर और जोड़ लिए। उनकी संपत्ति 187 अरब डॉलर हो गई है। इसी तरह चीन के ज़ोंग शनशन की संपत्ति 62.6 अरब डॉलर तक बढ़ गई। जोंग की बोतलबंद पानी की कंपनी नों फू स्प्रिंग ने शेयर की सार्वजनिक बिक्री शुरू करने के बाद 1.1 अरब डॉलर से ज़्यादा की कमाई की है। उनकी कंपनी का मूल्य 70 अरब डॉलर है। इसके अलावा फ्रांस के बर्नार्ड आरनॉल्ट कुल संपत्ति इस साल के अंत तक 146.3 अरब डॉलर हो गई। मुश्किलों भरे इस साल में आरनॉल्ट की संपत्ति 30 प्रतिशत तक बढ़ी है। इन अमीरों की सूची में 58 साल के गिलबर्ट एनबीए की कुल संपत्ति 28.1 अरब डॉलर तक बढ़ गई है।

अमीरों की सूची में एशिया और यूरोप के वे सैकड़ों अमीर भी शामिल है जिन्होंने कोरोना काल में अकूत कमाई की और घर में रहते हुए लाखों डालर अपनी तिजोरियों में भर लिए। जबकि गरीबों के लिए कोरोना काल इतना मुश्किलों भरा रहा कि उन्हें दाने-दाने के लिए मोहताज होना पड़ा। कई को तो परिवार पालने के लिए उन संस्थाओं पर निर्भर होना पड़ा जो गरीबों को भोजन इत्यादि का इंतजाम करते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.