नई दिल्ली. दो दिन पहले पूर्वी लद्दाख में सीमा के इस पार पकड़े गए चीनी सैनिक को छोड़ने के लिए चीन ने गुहार लगाई है कि भारत उसे छोड़ दे क्योंकि वह भटक कर उस पार चला गया था। चीन ने पकड़े गए चीनी सैनिक की तत्काल वापसी का आह्वान किया है। सेना के आधिकारिक पीएलए डेली की ओर से संचालित समाचार पोर्टल चाइना मिलिट्री ऑनलाइन ने कहा है कि पकड़ा गया चीनी सैनिक “अंधेरे और मुश्किल भूगोल’’ के कारण भटक गया था।

चीनी सेना ने कहा कि भारतीय सेना को दोनों देशों के बीच प्रासंगिक समझौतों का सख्ती से पालन करना चाहिए। भारतीय सेना को खोए हुए सैनिक को वापस करने में समय बर्बाद नहीं करना चाहिए। इससे दोनों देशों के बीच सीमा तनाव को कम करने और संयुक्त रूप से शांति बनाए रखने में मदद मिलेगी।

भारतीय सेना का दावा, एलएसी पार करने पर लिया हिरासत में

उल्लेखनीय है कि पिछले करीब तीन महीने में ये दूसरी घटना है। भारतीय सेना ने एक बयान में कहा कि पीएलए के सैनिक ने एलएसी पार की थी और उसे इस क्षेत्र में तैनात भारतीय सैनिकों ने हिरासत में ले लिया। चीनी सैनिकों के जमावड़े और तैनाती के चलते दोनों ओर से सैनिक एलएसी के पास तैनात किये गए हैं। भारतीय सेना ने कहा कि पीएलए के पकड़े गए सैनिक के साथ तय प्रक्रियाओं के मुताबिक व्यवहार किया जा रहा है तथा इसकी जांच की जा रही है कि उसने किन परिस्थितियों में एलएसी पार की।

इससे पहले भारतीय सैनिकों ने पिछले साल 19 अक्टूबर को पीएलए के कॉर्पोरल वांग या लांग को पकड़ा था, जब वह लद्दाख के डेमचोक सेक्टर में एलएसी पार करके भारत की सीमा में चला आया था। कॉर्पोरल को निर्धारित प्रोटोकॉल का पालन किये जाने के बाद पूर्वी लद्दाख में चुशुल-मोल्डो सीमा बिंदु पर चीन को सौंपा गया था।

Leave a comment

Your email address will not be published.