नई दिल्ली. उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने आर्थिक विकास योजनाओं के नाकाम होने की बात स्वीकारते हुए कहा कि उत्तर कोरिया सैन्य क्षमता में वृद्धि करेगा। किम जोंग उन ने अपनी पार्टी की बैठक में बाहरी दुनिया के साथ संबंध सुधारने की जरूरत पर भी बल दिया।

उत्तर कोरिया के सरकारी मीडिया ने कहा है कि किम ने लगातार तीसरे दिन जारी पार्टी की बैठक में दक्षिण कोरिया के साथ संबंधों की समीक्षा की, हालांकि यह नहीं बताया कि वह किस तरह के कदम उठाना चाहते हैं। स्वतंत्र पर्यवेक्षकों ने उम्मीद जतायी है कि सत्तारूढ़ वर्कर्स पार्टी के पहले सम्मेलन के जरिए वह दक्षिण कोरिया और अमेरिका की ओर सद्भावना का संदेश भेजना चाहते हैं क्योंकि देश में आर्थिक चुनौतियां बढ़ती जा रही हैं। कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी (केसीएनए) ने कहा कि पार्टी के सम्मेलन में किम ने अपनी पार्टी की नीतियों को रेखांकित किया और दूसरे देशों के साथ संबंध सुधारने पर जोर दिया।

केसीएनए ने कहा कि किम ने दक्षिण कोरिया के साथ संबंधों की भी समीक्षा की। ‘वर्कर्स पार्टी कांग्रेस’ निर्णय लेने वाली पार्टी की शीर्ष इकाई है। यह इकाई पिछली परियोजनाओं की समीक्षा करती है और नई प्राथमिकताएं तय करती है तथा शीर्ष अधिकारियों के विभागों का फेरबदल करती है। कोविड-19 महामारी के कारण सीमाएं बंद होने और अमेरिका द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों के कारण किम को अपने नौ साल के कार्यकाल में सबसे अधिक चुनौतियों का सामना करना पड़ा।

चीनी चांगए-4 मिशन फिर काम पर जुटा

नई दिल्ली. चीन की अंतरिक्ष एजेंसी का दावा है कि उसके चांगए-4 अभियान के लैंडर और रोवर ने चंद्रमा के सुदूर भाग पर 26वें चंद्र दिवस पर काम फिर शुरू कर दिया है। चंद्रमा के सुदूर हिस्से पर दक्षिण ध्रुव-ऐटकेन बेसिन में वोन करमान क्रेटर पर पिछले साल तीन जनवरी को पहली बार चंद्रमा पर सॉफ्ट-लैंडिंग करने वाले चांगए-4 अभियान ने चंद्रमा की सतह पर पृथ्वी के 736 दिन के बराबर अवधि पूरी कर ली है। एक चंद्र दिवस पृथ्वी के करीब 14 दिन के बराबर होता है और चंद्र रात्रि भी इतनी ही अवधि की होती है।

चंद्रमा की सुदूर सतह वह गोलार्द्ध है जो चंद्रमा के परिभ्रमण के कारण कभी पृथ्वी के सामने नहीं आता। इसे कई बार ‘चंद्रमा का अंधेरा भाग’ भी कहा जाता है। इस हिस्से पर सूर्य का प्रकाश उतना ही आता है जितना पृथ्वी के सामने आने वाले हिस्से पर आता है।

चाइना नेशनल स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन के ‘लूनर एक्सप्लोरेशन एंड स्पेस प्रोग्राम सेंटर’ के अनुसार लैंडर चीन के समयानुसार शुक्रवार तड़के 3.13 बजे सक्रिय हुआ और रोवर युतू-2 या जेड रैबिट-2 गुरूवार सुबह 10.29 बजे सक्रिय हुआ। सौर ऊर्जा से संचालित चंद्रयान चंद्र रात्रि के दौरान निष्क्रिय अवस्था में चला जाता है।

26वें चंद्र दिवस के दौरान युतू-2 उत्तर पश्चिम दिशा में बसॉल्ट क्षेत्र की तरफ बढ़ेगा। यह रोवर पैनारोमा तस्वीरें लेगा और इसके इन्फ्रारेड इमेजिंग स्पेक्टोमीटर, न्यूट्रोन एटम डिटेक्टर और लूनर रडार चंद्रमा पर वैज्ञानिक अन्वेषण जारी रखेंगे। अनुसंधान दल आंकड़ों का विश्लेषण करेंगे और वैज्ञानिक परिणाम जारी करेंगे। चांगए-4, 2004 में चीन का चंद्र कार्यक्रम शुरू होने के बाद से इस देश का चौथा चंद्र मिशन है।

Leave a comment

Your email address will not be published.