नई दिल्ली. सुरक्षा बलों ने नगरोटा में जैश के जिन चार आतंकियों को मुठभेड़ में मार गिराया था, उसकी जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी एनआईए करेगी। केंद्र सरकार की अधिसूचना के बाद राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने मामले की जांच शुरू कर ​दी है।

जम्मू-कश्मीर के नगरोटा क्षेत्र में पुलिस ने 19 नवंबर को अभियान के दौरान चार आतंकवादी मार गिराए थे। एनआईए जैश के इन आतंकवादियों के षड्यंत्र और मंशा का पता लगाने के लिए जांच करेगी और इनके संपर्क में रहने वाले लोगों का भी पता लगाएगी। एनआईए की टीम ने 19 नवंबर को बन टोल प्लाजा में मुठभेड़ स्थल का भी दौरा किया था। वहीं एनएआई इस साल 31 जनवरी को हुई एक मुठभेड़ की भी जांच कर रही है जिसमें जेईएम के तीन आतंकवादी मारे गए थे

ट्रंप को मौजूद रहना होगा

उधर नए अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने वाशिंगटन में एक इंटरव्यू में कहा कि शपथ ग्रहण के दौरान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की संभावित मौजूदगी से न सिर्फ चुनाव बाद से चली आ रही खींचतान पर विराम लगेगा बल्कि सत्ता के शांतिपूर्ण हस्तांतरण से अमेरिकी इज्जत में चार चांद लग जाएंगे।
नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन ने एक साक्षात्कार में कहा कि ट्रम्प की संभावित उपस्थिति से यह बताया जा सकेगा कि चुनाव बाद जो अव्यवस्था उन्होंने फैलाई, उस पर विराम लग गया है और प्रतिस्पर्धी दलों के साथ सत्ता का शांतिपूर्ण हस्तांतरण हो रहा है। सब एक दूसरे से हाथ मिलाते हुए भविष्य की ओर अग्रसर हैं। वे घरेलू राजनीति से अधिक वैश्विक स्तर पर बन रही अमेरिका की छवि को लेकर चिंतित हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.