चीन से 6 हजार किलोमीटर ज्यादा लम्बी है ये दीवार

नई दिल्ली. पूरी दुनिया को अपनी पाठ्यपुस्तकों के साथ ही सामान्य ज्ञान सम्बंधी दस्तावेजों में तत्काल सुधार की जरूरत है। 21 हजार 196 किलोमीटर लम्बी चीन की जिस दीवार को दुनिया की सबसे लम्बी दीवार बताया जाता है, वह सच नहीं है क्योंकि उससे बड़ी और 2700 किलोमीटर लम्बी दीवार अफ्रीका के पश्चिमी सहारा में है।

इस दीवार का निर्माण अस्सी के दशक में मोरक्को ने रेत और पत्थरों से कराया है। इसकी लम्बाई 2700 किलोमीटर है और इसके दायरे में पश्चिमी सहारा का 80 फ़ीसदी इलाक़ा आता है। दीवार पर कंटीले तारों के साथ ही बारुदी सुरंगे बिछी हुई है। इसी के चलते इसे दुनिया का सबसे अधिक बारुदी सुरंगों वाला इलाका माना जाता है। मोरक्को ने इस दीवार ​का निर्माण गुरिल्ला लड़ाकों को रोकने के लिए कराया था।

अफ्रीका के क़रीब दो लाख 70 हज़ार वर्ग किलोमीटर में फैले रेतीले और बेहद कम आबादी वाला ये इलाका पश्चिमी सहारा में है और लम्बे समय तक स्पेन का उपनिवेश रह चुका है। 1975 से ये मोरक्को के कब्जे में है।

बेहद मुश्किल हालात होने के बावजूद पश्चिमी सहारा में अकूत प्राकृतिक संसाधन हैं। सहारा रेगिस्तान के पश्चिमी छोर पर स्थित इस इलाके की सीमाएं अटलांटिक महासागर तक हैं और वे एक हजार किलोमीटर लम्बी हैं।

इसके इसके उत्तर में मोरक्को, पूर्व में अल्जीरिया, दक्षिण और दक्षिण पूर्व में मॉरिटानिया है। क़रीब दो लाख सत्तर हज़ार वर्ग किलोमीटर में फैले इलाक़े में सिर्फ दस लाख लोग रहते हैं। पश्चिमी सहारा में फ़ॉस्फ़ेट का बड़ा भंडार है। अटलांटिक महासागर की सबसे उम्दा किस्म की मछलियां भी इसी क्षेत्र में हैं। बेर्बेर जनजाति समुदाय के आवास वाला पश्चिमी सहारा पर 1884 में स्पेन ने कब्जा कर लिया था।

Leave a comment

Your email address will not be published.