अमेरिकी लोकतंत्र की ताकत का असली चेहरा

नई दिल्ली. स्पष्ट हार के बावजूद पद छोड़ने में आनाकानी कर रहे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप नहीं मानते तो व्हाइट हाउस प्रशासन 20 जनवरी को उन्हें जबरन बाहर कर देगा।
अमेरिकी मीडिया की खबरों के अनुसार बाइडेन की जीत के आधिकारिक ऐलान के बाद भी ट्रंप ने सत्ता नहीं छोड़ी तो उन्हें जबरन व्हाइट हाउस से बाहर निकाल दिया जाएगा। जैसे ही बाइडेन की जीत की आधिकारिक घोषणा होगी वैसे ही सीआईए बाइडेन को ब्रीफ करना शुरू कर देगी। सीआइए ट्रंप को आखिरी ब्रीफ 19 जनवरी तक देगी।

बीस जनवरी को ब्रीफ देना बंद कर देगी सीआईए

व्हाइट हाउस का स्टाफ नए राष्ट्रपति के स्वागत की तैयारियां शुरू कर देगा। बीस जनवरी को दोपहर बारह बजे ट्रंप के सामान को हटाकर बाइडेन का सामान व्हाइट हाउस में लाया जाएगा। ट्रंप की सैलरी से व्हाइट हाउस के किराए की कटौती जनवरी में बंद कर दी जाएगी और बाइडेन के वेतन से कटौती शुरू हो जाएगी। मेलानिया ट्रंप के निर्देशों की सुनवाई 19 जनवरी तक होगी। 20 जनवरी से व्हाइट हाउस में जिल बाइडेन के आदेशों को स्टॉफ सुनना शुरू कर देगा।

उसी दिन पेंटागन, सीआईए, एफबीआई, अटॉर्नी जनरल ट्रंप से कम्युनिकेशन को बंद करके बाइडेन से जोड़ देंगे। ट्रंप को आखिरी सेल्यूट के साथ बीस्ट और एयरफोर्स वन बाइडेन के लिए उपलब्ध होंगे। परंपरा के हिसाब से बीस्ट बाइडेन के ब्लड सैंपल ले जाना शुरू कर देगी। बीस जनवरी 2021 को न्यूक्लियर कोड वाले ब्रीफकेस को ट्रंप से दूर कर दिया जाएगा।

Leave a comment

Your email address will not be published.