वाशिंगटन. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को कई राज्यों में चल रही मतगणना के बीच दावा किया कि अमेरिकी जनता के साथ बड़ी धोखाधड़ी की जा रही है और वह इसके खिलाफ उच्चतम न्यायालय जाएंगे। राष्ट्रपति ने चुनाव प्रक्रिया में गड़बड़ी का कोई हवाला दिये बिना कहा, अचानक सब कुछ रुक गया। यह अमेरिकी जनता के साथ धोखाधड़ी है। यह देश के शर्म की बात है। हम यह चुनाव जीत रहे थे। सच कहूं तो हम यह चुनाव जीत चुके थे।

अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव दिलचस्प मोड़ पर पहुंच गया है। बाइडेन 225 इलेक्टोरल कॉलेज सीट पर जीत दर्ज कर चुके हैं जबकि ट्रंप को 213 सीटों पर जीत हासिल हुई है। विजेता को कुल 538 में से कम से कम 270 सीटों पर जीत हासिल करनी होगी। अमेरिका में चल रहे राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लकिन पार्टी के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप का मुकाबला डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन से है।

ट्रंप ने बुधवार को व्हाइट हाउस में अपने भाषण में कहा कि करोड़ों लोगों ने हमें वोट दिया है। उन्होंने दावा किया कि बेहद निराश लोगों का एक समूह दूसरे समूह के लोगों को हतोत्साहित करने का प्रयास कर रहा है। हम बड़े जश्न की तैयारी में थे। हम जीत रहे थे। लेकिन अचानक सब बदल दिया गया। ट्रंप ने कहा कि वह चाहते हैं कि मतदान रोका जाए। उन्होंने कहा कि वह उच्चतम न्यायालय जाएंगे।

व्हाइट हाउस के नजदीक जमा हुए प्रदर्शनकारी

उधर व्हाइट हाउस से महज कुछ दूरी पर स्थित ब्लैक लाइव मैटर प्लाजा पर एक हजार से अधिक प्रदर्शनकारी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का विरोध करने के लिए एकत्र हुए। सैकड़ों प्रदर्शनकारियों ने वाशिंगटन की सड़कों पर मार्च निकाला और कई बार यातायात को बाधित किया एवं पटाखे जलाए। न्यूयॉर्क शहर से लेकर सिएटल तक कई छिट-पुट प्रदर्शन हुए, लेकिन मतदान समाप्त होने के कुछ घंटों बाद पूरे अमेरिका में कुल मिलाकर गंभीर हिंसा या अशांति के संकेत नहीं मिले। वाशिंगटन में प्रदर्शन कुल मिलाकर शांतिपूर्ण रहा। लोग नारे लगा रहे थे, यह किसकी सड़क है? हमारी है!हमें अगर न्याय नहीं मिला तो उन्हें शांति नहीं मिलेगी। समूह में शामिल किशोर सड़क पर नाच रहे थे और वहां से गुजरने वाले मुस्कुरा रहे थे। प्रदर्शनकारियों ने विशाल बैनर लिए थे जिनमें से एक पर लिखा था, ट्रंप हमेशा झूठ बोलते हैं।

एक स्थान पर मार्च करने वाले प्रदर्शनकारियों ने वहां खड़ी पुलिस की गाड़ी के टायर पंचर कर दिए। पूरे अमेरिका में चुनाव से पहले सैकड़ों कारोबार हिंसा की आशंका से बंद रहे। वाशिंगटन की मेयर मुरियल बॉउसर ने कहा कि कुछ लोग अफरा-तफरी और समस्या उत्पन्न करना चाहते हैं। बॉउसर ने कहा कि कभी उन्होंने दिन में इतने सारे कारोबारों बंद नहीं देखा।

Leave a comment

Your email address will not be published.