नई दिल्ली. अमेरिकी सीनेट पर डेमोक्रेट के नियंत्रण का रास्ता जार्जिया राज्य से सीनेट की एक सीट पर डेमोक्रेट उम्मीदवार राफ़ेल वॉरनोक की जीत के साथ ही साफ हो गया है।

सीनेट की दो सीटों के नतीजे आने के कुछ घंटों बाद ही अमेरिकी कांग्रेस में जो बाइडन के निर्वाचन को मंज़ूरी देने की प्रक्रिया शुरू जाएगी। डेमोक्रेट उम्मीदवार राफ़ेल वॉरनोक की जीत का अनुमान कई अमेरिकी न्यूज़ नेटवर्क्स ने लगाया था। जॉर्जिया की दूसरी सीट का चुनाव परिणाम आना अभी शेष है।

अगर रिपब्लिकन पार्टी सीनेट की दूसरी सीट का चुनाव भी हार गई तो ट्रंप की हार के बाद पार्टी के लिए ये बहुत बड़ा झटका होगा। राफ़ेल वॉरनोक अमेरिकी इतिहास में देश के दक्षिणी इलाके से चुनाव जीतने वाले तीसरे अफ्रीकी मूल के नेता है। उन्होंने रिपब्लिकन पार्टी की नेता कैली लोएफ़लर को शिकस्त दी है। सीनेट की दूसरी सीट के लिए वोटों की गिनती जारी है।

इससे पहले दोनों सीटों पर डेमोक्रेट और रिपब्लिकन पार्टी के बीच कांटे की टक्कर की थी। डेमोक्रेटिक पार्टी को संसद पर पूर्ण नियंत्रण हासिल करने के लिए जॉर्जिया की दोनों सीटें जीतना जरूरी है। वहीं रिपब्लिकन पार्टी को सीनेट में बने रहने के लिए दो में से सिर्फ़ एक सीट की ज़रूरत है। 98 प्रतिशत वोटों की गिनती होने तक, वॉरनोक की लोएफ़लर पर मामूली बढ़त थी, जबकि जोन ओसॉफ़ और पेरड्यू लगभग बराबरी पर थे।

30 लाख से ज़्यादा अमेरिकी मतदाताओं ने मतदान किया था। अगर रिपब्लिकन जॉर्जिया की सीनेट की दोनो सीट जीत जाते तो वह ऊपरी सदन में नियंत्रण बरक़रार रख पाते लेकिन उनकी हार से डेमोक्रेट्स का क़ब्ज़ा सीनेट, हाउस ऑफ़ रिप्रेज़ेंटेटिव्स और व्हाइट हाउस तीनों पर हो जाएगा।

Leave a comment

Your email address will not be published.