नई दिल्ली. अमेरिकन राष्ट्रपति चुनाव के पूरे अभियान के दौरान डोनाल्ड ट्रंप के निशाने पर रहा सोशल मीडिया प्लेटफार्म ट्विटर अगले साल की शुरुआत में खातों का सत्यापन फिर शुरू करेगा। इसी के साथ सक्रिय और प्रामाणिक उपयोगकर्ताओं के खातों को ‘ब्लू टिक’ फिर से मिलने लगेगा।

ट्वीटर ने सार्वजनिक सत्यापन तीन साल पहले इस प्रतिक्रिया के चलते रोक दिया था जिसमें कई लोगों ने इसे मनमाना और भ्रमित करने वाला बताया। हालांकि ट्विटर ने विशेष मामलों में खातों को ब्लू टिक देने जारी रखे।

ट्विटर ने ब्लॉग पोस्ट में कहा है कि एक साल बाद हमने 2020 के अमेरिकी चुनाव के मौके पर सार्वजनिक बातचीत में ईमानदारी बनाए रखने के लिए इस काम को आगे बढ़ाया। माइक्रोब्लॉगिंग मंच अब प्रक्रिया को फिर से शुरू कर रहा है और जनता से 24 नवंबर से आठ दिसंबर 2020 तक अपनी नई सत्यापन नीति के मसौदे पर प्रतिक्रिया देने के लिए कहा है।

ब्लॉग में कहा गया है कि इस नीति के आधार पर भविष्य में सुधार किए जाएंगे कि सत्यापन का मतलब क्या है, सत्यापन के लिए कौन योग्य है और अधिक न्यायसंगत प्रक्रिया सुनिश्चित करने के लिए क्यों कुछ खाते सत्यापन खो सकते हैं।

ट्विटर ने कहा कि हम 2021 की शुरुआत में एक नई सार्वजनिक आवेदन प्रक्रिया के साथ सत्यापन को फिर से शुरू करने की योजना बना रहे हैं। ब्लू टिक पाने के लिए खाता उल्लेखनीय और सक्रिय होना जरूरी है। ट्विटर ने छह तरह के खातों की पहचान की है, जिसमें सरकार, कंपनियां, ब्रांड और गैर-लाभकारी संगठन, समाचार, मनोरंजन, खेल, सामाजिक कार्यकर्ता, आयोजक और अन्य प्रभावशाली व्यक्ति शामिल हैं

Leave a comment

Your email address will not be published.