सोशल मीडिया ट्रोलिंग का नतीजा

नई दिल्ली. फिल्म ‘आदिपुरुष’ (Adipurush Movie) के रावण ने कहा है कि वे सीता के अपहरण के उचित कारण वाले सीन अब नहीं फिल्माएंगे। उन्होंने ऐसा कहने के लिए बिना शर्त माफी भी मांगी है। रावण का किरदार निभा रहे अभिनेता सैफ़ अली ख़ान ( Saif Ali Khan ) ने कहा है कि उनका इरादा किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का नहीं था।

फिल्म ‘आदिपुरुष’ पर विवाद तब शुरू हुआ जब बॉलीवुड अभिनेता सैफ़ अली ख़ान ने एक इंटरव्यू में कहा कि एक राक्षस राजा का किरदार निभाना बहुत दिलचस्प है लेकिन इसमें यह कम सख़्त है। लेकिन हम इसे दयालु दिखाएंगे जिसमें मनोरंजन भी होगा और वो किरदार सीता के अपहरण का उचित कारण बताएगा कि युद्ध राम के साथ बदला लेने की वजह से हुआ क्योंकि लक्ष्मण ने उनकी बहन शूर्पणखा की नाक काटी थी। सैफ ‘आदिपुरुष’ में रावण का किरदार निभा रहे हैं वहीं अभिनेता प्रभाष भगवान राम का किरदार निभा रहे हैं।

उनकी इस टिप्पणी पर सोशल मीडिया जाग उठा और कई यूज़र ने उनकी टिप्पणी को हिंदुत्व का अपमान बताया। कई लोगों ने फ़िल्म के बहिष्कार की अपील भी की। सोशल मीडिया अभियान की भनक लगते ही सैफ अली खान ने बयान जारी किया कि मुझे पता चला है कि एक इंटरव्यू के दौरान मेरा एक बयान विवाद का विषय बना है और इससे लोगों की भावनाएं आहत हुई हैं। मेरा ऐसा कोई इरादा नहीं था या ऐसा कहने का मतलब था। मैं ईमानदारी से सभी से माफ़ी मांगना चाहता हूं और अपना बयान वापस लेना चाहता हूं।

सैफ़ अली ख़ान ने कहा कि आदिपुरुष फ़िल्म बुराई पर अच्छाई की जीत का जश्न होगी। खान ने कहा कि भगवान राम हमेशा मेरे लिए सच्चाई और वीरता के प्रतीक रहे हैं। आदिपुरुष बुराई पर अच्छाई की जीत का जश्न मनाने के बारे में है और पूरी टीम महाकाव्य को बिना किसी ख़ामियों के प्रस्तुत करने के लिए मिलकर काम कर रही है।

रामायण पर आधारित फ़िल्म आदिपुरुष के निर्देशक वही ओम राउत हैं जिन्होंने ‘तान्हाजी: द अनसंग वॉरियर फ़ेम’ का निर्देशन किया था। हिंदी, तेलुगू में शूट होने वाली आदिपुरुष को तमिल, मलयालम और कन्नड़ भाषाओं में डब किया जाएगा। फ़िल्म पर अभी काम चल रहा है और अगले साल से इसकी शूटिंग शुरू होगी और अगस्त 2022 में इसके रिलीज़ होने की संभावना है।

Leave a comment

Your email address will not be published.