ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के निधन की खबर आने के बाद महारानी एलिजाबेथ को श्रद्धांजलि देते हुए किंग चार्ल्स की एक तस्वीर साझा कर डाली. इससे उनके प्रशंसकों के साथ ही सोशल मीडिया के ट्रोलर्स ने उनकी क्‍लास लगा दी. स्‍थिति इतनी विचित्र हो गई कि करीना कपूर खान न सिर्फ हतप्रभ रह गईं बल्‍कि उन्‍हें दो दिन के लिए सोशल मीडिया से बाहर रहना पड़ा.

ट्रोलर्स ने करीना कपूर खान को अपनी जड़ों को भूल जानेके लिए ट्रोल किया. उनका कहना था कि करीना कपूर खान ने भारत की तमाम परंपराओं काे दरकिनार कर दिया है. कई लोगों ने पटौदी परिवार पर भी कटाक्ष किया. उन्‍होंने कहा कि अंग्रेजों के साथ मिलकर नवाबकी उपाधि अर्जित करने वाले नवाब पटौदी के परिवार से और उम्‍मीद क्‍या की जा सकती है. एक यूजर ने टिप्‍पणी की कि सैफ के पूर्वज अफगानी आदिवासी सरदार थे जिन्हें ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी ने नवाबकी उपाधि दी थी. क्‍योंकि पटौदी ने एंग्लोमराठा युद्ध में मराठों के खिलाफ अंग्रेजों की मदद की थी. अंग्रेजों और मराठो के बीच ये युद्ध 1804 में हुआ था. इसी वजह से सैफू और बेगम करीना कपूर खान ने महारानी एलिजाबेथ के निधन पर संवेदना जताई थी.

ट्रोलर्स यही नहीं रूके बल्‍कि उन्‍होंने पटौदी परिवार पर भारत के साथ गद्दारी करने के आरोप भी लगाए. यहां बता दें कि स्‍वतंत्रता संग्राम के दौरान अधिकांश राजााओं और नवाबों ने स्‍वतंत्रता सेनानियों के साथ खुलकर गद्दारी थी और उनके खिलाफ मुखबिरी करने में भी वे अग्रणी थे. ऐसे ही नवाबों में करीना कपूर खान के श्‍वसुर नवाब पटौदी के परदादा भी शामिल थे.

Leave a comment

Your email address will not be published.