Skoda Kushaq CNG का दोहरे ईंधन वाले इंजनों से डिस्चार्ज होने वाले प्रदूषण का परीक्षण शुरू कर दिया गया है. स्कोडा सीएनजी तकनीक पर लम्बे समय से काम कर रही है और पिछले समय उसके एक मॉडल को एक रिफिलिंग स्टेशन में सीएनजी भरवाते देखा गया था। तब Skoda Auto India ने ये स्वीकार कर लिया था कि स्कोडा का सीएनजी मॉडल परीक्षण के दौर से गुजर रहा है. इधर कुशक और ताइगुन कार GNCAP प्रोटोकॉल के तहत 5 स्टार क्रैश रेटिंग हासिल करने में कामयाब रही हैं।

उधर टोयोटा और मारुति सुजुकी कॉम्पैक्ट एसयूवी सेगमेंट में सीएनजी तकनीक पहले ही ला चुकी हैं और हुंडई और किआ के परीक्षण चल रहे हैं. बता दे कि अभी क्रेटा जैसी कारों के साथ डीजल की बाजार में 55% हिस्सेदारी है. इस परीक्षण का वीडियो आप इस लिंक पर क्लिक करके देख सकते हैं.
https://www.youtube.com/watch?v=7IJAjdv7orU

Kushaq CNG की बात करने से पहले बता दें कि अभी स्कोडा कुशक दो पावरट्रेन में है। दोनों टर्बोचार्ज्ड पेट्रोल इंजन जिनमें से एक 3-सिलेंडर इंजन और दूसरा 4-सिलेंडर इंजन है। दोनों इंजन मैनुअल और ट्रांसमिशन विकल्प में आते हैं।

स्कोडा कुशक सीएनजी डबल ईंधन वेरिएंट के सीएनजी टैंक को स्कोडा कुशक के बूट में फिट किया जाएगा. फैक्ट्री-फिटेड सीएनजी किट सुरक्षित होने और बहुत अधिक सटीक होती हैं। सीएनजी कार कम पावर और टॉर्क बनाएगी।

स्कोडा कुशाक सीएनजी डबल ईंधन की कीमत गैर-सीएनजी की तुलना में 1 लाख रूपए अधिक हो सकतती है. माना जा रहा है कि जब स्कोडा की सीएनजी डबल ईंधन आएगी उससे पहले हुंडई क्रेटा का सीएनजी वेरिएंट लॉन्च कर सकती है. स्कोडा कुशाक सीएनजी बाई-फ्यूल भारत में आने वाली पहली कार होगी.

Leave a comment

Your email address will not be published.