Advertisement
Subscribe for notification

Electric VS petrol scooters mileage: जानिए प्रति किलोमीटर पर कितना पैसा बचेगा

Advertisement

नई दिल्ली. देश में पेट्रोल की बढ़ती कीमतों से परेशान आम आदमी इलेक्ट्रिक स्कूटरों की ओर दौड़ रहा है। केन्द्र और राज्य सरकारें भी इलेक्ट्रिक स्कूटरों के उत्पादन पर भारी सब्सिडी दे रही हैं। इसके चलते भारत में इलेक्ट्रिक स्कूटरों की बाढ़ आ गई है। इस स्थिति में हम यहां आपको इलेक्ट्रिक स्कूटर खरीदने और उससे होने वाली बचत के साथ ये भी बताएंगे कि जब इलेक्ट्रिक स्कूटर की बैटरी की लाइफ समाप्त हो जाएगी तो उसे बदलने में आने वाली लागत कितनी होगी। इसके अलावा बैटरी की लाइफ समाप्त होने तक पेट्रोल बिल में कितनी बचत होगी।

Advertisement

पेट्रोल और इलेक्ट्रिक स्कूटर की तुलना के लिए हम यहां ओला इलेक्ट्रिक स्कूटर की 6जी एक्टिवा 125 के साथ तुलनात्मक अध्ययन पेश कर रहे हैं ताकि आप अच्छी तरह ये समझ लें कि इलेक्ट्रिक स्कूटर खरीदने में कितना फायदा है।

ओला एस1 VS होंडा एक्टिवा 125

ओला एस1 की एक्स-शोरूम कीमत ₹ 85,099 और ऑन-रोड कीमत 92,645 रुपए है। Ola S1 7 सेकंड में 0-60 किमी प्रति घंटे की गति प्राप्त करता है। जबकि होंडा एक्टिवा 6जी और एक्टिवा 125 के डीलक्स वेरिएंट की कीमत नई दिल्ली में 82,889 रुपये है। एक्टिवा 125 डीलक्स वेरिएंट आन रोड 92,645 रुपये में उपलब्ध है। इन कीमतों में आरटीओ और बीमा लागत और अन्य लागत शामिल हैं।

कीमत में ओला एस1 एक्टिवा 6जी डीलक्स की तुलना में 8,105 रुपये अधिक महंगा है। हालांकि दिल्ली सरकार ओला एस1 पर 15,000 रुपये की राज्य सब्सिडी दे रही है। लेकिन ये कुछ समय बाद वापस ले ली जाएगी। इसकी वापसी के साथ ओला एस1 की ऑन-रोड कीमत लगभग 1.07 रुपये हो जाएगी।

इलेक्ट्रिक VS पेट्रोल स्कूटर चलने की लागत

पेट्रोल की कीमत लगभग 100 रुपये प्रति लीटर है, जबकि दिल्ली में बिजली की औसत कीमत लगभग 6 रुपये प्रति यूनिट है। बिजली की लागत के कारण, इलेक्ट्रिक स्कूटर चलाने की लागत पेट्रोल के मुकाबले ₹ 0.25/किमी आती है। जबकि पेट्रोल स्कूटर की रनिंग लागत ₹ 2.22/किमी ₹ 2.40/किमी आती है। असल में लागत का ये अंतर मिश्रित राइडिंग परिस्थितियों में एक्टिवा 6जी का औसत माइलेज 45 किमी/लीटर होने की वजह से है। 100 रुपये प्रति लीटर के पेट्रोल की लागत को देखते हुए एक्टिवा 6G की चलने की लागत 2.22 रुपये से लेकर 2.4 रुपये प्रति किमी है।

जबकि Ola S1 की बैटरी क्षमता 3 kWh है और 80% चार्जिंग दक्षता के साथ बैटरी को पूरी तरह से चार्ज करने में 3.75 kWh बिजली लगेगी। इसे 6 रुपये/kWh से गुणा करने पर 22.5 रुपये का खर्च होता है और इस खर्च को ओला के माइलेज से तुलना करने पर रनिंग कॉस्ट 25 पैसे प्रति किमी तक आती है। इस लिहाज से एक्टिवा 125 की रनिंग लागत ओला एस1 की तुलना में लगभग दस गुना अधिक है।

ओला एस1 एक्टिवा 6जी और एक्टिवा 125 की तुलना में 1.97 रुपये प्रति किमी और 2.15 रुपये प्रति किमी की बचत करता है। जब आप प्रति वर्ष 10,000 किमी की सवारी करते हैं तो ओला एस1 की सवारी से आपको एक्टिवा 6जी पर 19,700 रुपये और एक्टिवा 125 पर 21,500 रुपये की बचत होती है।

ओला एस1 15,000 किमी पर एक्टिवा 6जी की तुलना में 29,550 रुपए, 20,000 किमी पर 39,400 किमी और 25,000 किमी पर 49,250 रुपए की बचत करता है। एक्टिवा 125 पर 15,000 किलोमीटर पर 32,250 रुपये, 20,000 किलोमीटर पर 43,000 रुपये और 25,000 किलोमीटर पर 53,750 रुपये की बचत होती है।

सर्विस कॉस्ट अर्थात लिथियम-आयन बैटरी बदलना

लिथियम-आयन बैटरी पैक का औसत जीवन लगभग 50,000 से 60,000 किमी है। इतने किलोमीटर तय करने में एक औसत शहरी यात्री को सात वर्ष तक लगेंगे। वर्तमान में फास्ट चार्जिंग को सपोर्ट करने वाली 3-kWh लिथियम-आयन बैटरी की कीमत लगभग 60,000 रुपये से 65,000 रुपये है। अर्थात कहने का मतलब है कि सात साल बाद इलेक्ट्रिक स्कूटर की सर्विस कॉस्ट एक साथ 65,000 रुपये होगी।

लेकिन याद रखें, एक्टिवा और ओला एस1 की रनिंग कॉस्ट अंतर होने से सात सालों में बहुत सारा पैसा बच जाएगा। जब तक आप S1 पर 50,000 किमी की दूरी तय करेंगे तब तक Honda Activa 6G पर 98,500 रुपये और Activa 125 पर 1,06,000 रुपये का पेट्रोल जला चुके होंगे।

Hindi News: